इस गैज़ेट में एक गड़बड़ी थी.

रविवार, 6 दिसंबर 2009

दिल्ली की न्यायिक सेवाओं में भर्ती की जानकारी /सूचना

जैसा कि मैंने आपको अपनी पिछली पोस्ट में बताया था कि इन दिनों दिल्ली न्यायिक सेवा , दिल्ली न्यायिक अकादमी और दिल्ली अधीनस्थ न्यायालयों में भर्ती की प्रक्रिया शुरू हो गई है ॥ आज आपको नीचे दिए गए कुछ लिंक्स के माध्यम से बता रहा हूं कि इनके लिए इच्छुक व्यक्ति , कहां से कैसे और कब अपने आवेदन भर सकते हैं ॥ इन लिंक्स के माध्यम से आप सीधे उन साईटस पर जाकर आवेदन पत्र डाऊनलोड कर सकते हैं साथ ही इन भर्ती प्रक्रिया के बारे में विस्तार से जाना जा सकता है : -

सबसे पहले बात करते हैं दिल्ली न्यायिक सेवा के लिए निकले आवेदनों की । यहां ये बताता चलूं कि दिल्ली न्यायिक सेवा के तहत दो तरह की भर्ती प्रक्रिया होती है ॥एक दिल्ली न्यायिक सेवा के लिए और दूसरी दिल्ली उच्च न्यायिक सेवा ॥सीधे शब्दों में कहें तो ...प्रथम श्रेणी दंडाधिकारी हेतु और ॥सत्र न्यायाधीश हेतु ....इस बारे में आपको पूरी जानकारी यहां मिल सकती है ॥ ...........तथा यहां भी ........

दूसरी तरफ़ आवेदन मंगाए हैं दिल्ली न्यायिक अकादमी नें जो अभी अस्थाई रूप से दिल्ली की कडकडकडूमा कोर्ट में चालित है ...और स्थाई रूप से दिल्ली के द्वारका क्षेत्र में निर्माणाधीन है ॥ इस संस्था ने अपने कार्यालय के लिए ....उच्च स्तर के अधिकारी से लेकर ...लिपिक और अन्य चतुर्थ श्रेणी वर्ग तक के लिए आवेदन आमंत्रित किए हैं ......इनके बारे में ...यहां से जानकारी ली जा सकती है ......। आवेदन पत्र भी यहीं मिल जाएंगे ॥


तीसरी भर्ती निकली है दिल्ली अधीनस्थ न्यायालयों मे कनिष्ठ श्रेणी लिपिकों की ....जिनकी पदों की संख्या लगभग २५० के करीब है । इस संबंध में विस्तार से सूचना हालांकि ....५ दिसंबर के ...रोजगार समाचार में भी प्रकाशित हुआ है ॥किंतु इसकए अलावा यदि आप चाहें तो इसकी सूचना यहां भी मिल सकती है

2 टिप्‍पणियां:

  1. बहुत सुंदर जानकारी दी आप ने कईयो के काम आयेगी.
    धन्यवाद

    उत्तर देंहटाएं
  2. priy bandhu jhaa saahab ,
    aapke blog ko padhaa padhkar ati prasanntaa hui kyonki aapne apne baare men ,or kanoon ke baaremen,kafi kuchh likhaa hai or aap ne jaankaariyaan bhi dee
    aapne mere blog par comment kiyaa uske liye main aapkaa dhanywaad kartaa hun ,
    yadi sarkaar ,vakeel or aam naagrik,evn sangthan milkar karen to bhalaa kyaa nahi ho saktaa,poori prkiryaa ko to badlnaa naamumkin hai par usmen dheere ,dheere sudhaar avashy hogaa ,jajon ki sankhyaa or kortske kholne bhar se kuchh nahi hogaas,yadi jaroorat hai to kewal paariwaarik ,lok adaalten or jajon ke dwaara midieshan ke dwara pending pade cases kaa nibtara kiya ja sakta hai or us sabke liye 320 varsh ki jarurat nahin hai,ham sabko kewal mansik tour par taiyar hona hoga

    उत्तर देंहटाएं

आपकी टिप्पणियों से उत्साह ...बढ़ता है...और बेहतर लिखने के लिए प्रेरणा भी..। पोस्ट के बाबत और उससे इतर कानून से जुडे किसी भी प्रश्न , मुद्दे , फ़ैसले पर अपनी प्रतिक्रिया देना चाहें तो भी स्वागत है आपका ..बेहिचक कहें , बेझिझक कहें ..

Google+ Followers